AWAZ Uthayenge Lyrics

 

 

 

आवाज़ उठायेंगे, हम साज़ बजायेंगे,

"है यीशु महान अपना", ये गीत सुनायेंगे

 

संसार की सुंदरता में, है रूप तो तेरा ही,

इन चाँद सितारों में, है अक्स तो तेरा ही

महिमा की तेरी बातें, हम सबको बतायेंगे,

है यीशु महान अपना,ये गीत सुनायेंगे

 

दिल तेरा खज़ाना है, इक पाक मोहब्बत का,
थाह पा न सका कोई, सागर है तु उल्फत का,
हम तेरी मोहब्बत से,दिल अपना सजायेंगे, 
है यीशु महान अपना,ये गीत सुनायेंगे

 

ना देख सका हमको, तू पाप के सागर में,
और बनके मनुष्य आया,तू पाप के सागर में,
मुक्ति का तू दाता है, दुनिया को बतायेंगे,
है यीशु महान अपना,ये गीत सुनायेंगे

Aawaaz uthayenge, hum saaz bajayenge

Hai Yeshu mahaan apna, Yeh geet sunayenge

 

Sansaar ki sundarta mai, hai roop to tera he

In chaand sitaro mein, hai aks to tera hee

Mahima ki teri batein, Hum Sabko batayenge,

Hai Yeshu mahaan apna, Yeh geet sunayenge

 

Dil tera khazana hai, ek paak mohabbat ka,

Thah pa na saka koi, Saagar hai Tu Ulfat ka

Hum teri mohabbat se, Dil apna sajayenge,

Hai Yeshu mahaan apna, Yeh geet sunayenge

 

Na dekh saka humko, tu paap ke saagar mai,Aur banke manushya aaya, Akaash se sagar mai,

Mukti ka tu data hai, Hum sabko batayenge

Hai Yeshu mahaan apna, Yeh geet sunayenge

 

 

 

  प्रभु इस गीत के द्वारा आप सब को आशीष दे