Gin Gin Ke Stuti Karu

गिन - गिन के स्तुति करूं, बेशुमार तेरे दानों के लिए

अब तक तूने सम्भाला मुझे, अपनी बाहों में लिए हुए |

 

 तेरे शत्रु का निशाना, तुझ पर होगा न सफल,

आंखों की पुतली जैसे, वो रखेगा तुझे हर पल ।

 

गिन - गिन के स्तुति करूं, बेशुमार तेरे दानों के लिए

अब तक तूने सम्भाला मुझे, अपनी बाहों में लिए हुए |

 

आंधियां बनके आयें, ज़िन्दगी के फिकर,

कौन है तेरा खेवनहारा, है भरोसा तेरा किधर ।

 

गिन - गिन के स्तुति करूं, बेशुमार तेरे दानों के लिए

अब तक तूने सम्भाला मुझे, अपनी बाहों में लिए हुए |

 

आये तुझे जो मिटाने, वो शस्त्र होंगे बेअसर, 

तेरा रचने वाला तुझ पर , रखता है अपनी नज़र ।

 

गिन - गिन के स्तुति करूं, बेशुमार तेरे दानों के लिए

अब तक तूने सम्भाला मुझे, अपनी बाहों में लिए हुए |

Gin - Gin Ke Stuti Karoon,

Beshumaar Tere Daanon Ke Lie

Ab Tak Toone Sambhaalaa Mujhe,

Apanee Baahon Men Lie Hue .

 

Tere Shatru Kaa Nishaanaa,

Tujh Par Hogaa N Safal,

Aankhon Kee Putalee Jaise,

Vo Rakhegaa Tujhe Har Pal

 

Gin - Gin Ke Stuti Karoon,

Beshumaar Tere Daanon Ke Lie

Ab Tak Toone Sambhaalaa Mujhe,

Apanee Baahon Men Lie Huye

 

Aandhiyaan Banake Aayen,

Zaindagee Ke Fikar,

Kaun Hai Teraa Khevanahaaraa,

Hai Bharosaa Teraa Kidhar

 

Gin - Gin Ke Stuti Karoon,

Beshumaar Tere Daanon Ke Lie

Ab Tak Toone Sambhaalaa Mujhe,

Apanee Baahon Men Lie Hue

 

Aaye Tujhe Jo Miṭaane,

Vo Shastr Honge Beasar, 

Teraa Rachane Vaalaa Tujh Par ,

Rakhataa Hai Apanee Nazar

 

Gin - Gin Ke Stuti Karoon,

Beshumaar Tere Daanon Ke Lie

Ab Tak Toone Sambhaalaa Mujhe,

Apanee Baahon Men Lie Hue

  प्रभु इस गीत के द्वारा आप सब को आशीष दे