google.com, pub-3638331660160035, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

MARIYAM KA DULARA LYRICS

मरियम का दुलारा चरनी में सोता है ए ए ए
मरियम का दुलारा चरनी में सोता है ए ए ए
जग का तारणहारा चरनी में सोता है ए ए ए
मरियम का दुलारा
आ, आ आ आ, आ आ आ, आ आ

    •    सोना मुर लोबान चढ़ाने आये मजूसी पूरब से
सोना मुर लोबान चढ़ाने आये मजूसी पूरब से
आये मजूसी पूरब से
जग का पालनहारा चरनी में सोता है ए ए ए
जग का पालनहारा चरनी में सोता है ए ए ए
मरियम का दुलारा
आ, आ आ आ, आ आ आ, आ आ 



    •    अपनी अपनी भेड़ें लेके चले गडरिये दण्डवत को
अपनी अपनी भेड़ें लेके चले गडरिये दण्डवत को
चले गडरिये दण्डवत को
उनका वो सहारा चरनी में सोता है 
उनका वो सहारा चरनी में सोता है
मरियम का दुलारा
आ, आ आ आ, आ आ आ, आ आ 



    •    चारों ओर है घोर अँधेरा जीवन पथ पर जाऊं कैसे
चारों ओर है घोर अँधेरा जीवन पथ पर जाऊं कैसे
जीवन पथ पर जाऊं कैसे
जग का वो उजियारा चरनी में सोता है
जग का वो उजियारा चरनी में सोता है
मरियम का दुलारा चरनी में सोता है ए ए ए
जग का तारणहारा चरनी में सोता है ए ए ए
मरियम का दुलारा

 

 

 

  प्रभु इस गीत के द्वारा आप सब को आशीष दे