Stuti Prashansa Karu Prabhu

 

 

 

स्तुति प्रशंसा करू प्रभु, जय जयकार करू

तेरी आराधना करू सदा, इस जीवन भर में |

 

१. मेरे अँधेरे जीवन को, ज्योति में ला दिया

जब मैं पाप में अँधा था, येशु आत्मिक आँखें दी |

 

२. यीशु मुझको बचा लिया, पाप की दलदल से 

खींच निकाला गन्दगी से, और लहू से साफ़ किया |

 

३. तुझको मैं धन्यवाद बलि, दिन भर चढ़ाऊंगा

पवित्र आत्मा से भरकर, मैं स्तुति गाऊंगा ||

Stuti Prashansa Karu Prabhu, Jai Jaikar Karu

Teri Aradhna Karu Sada, Is Jeevan Bhar Mein

1. Mere andhere jeevan ko, Jyoti mein laa diya

Jab main paap mein andha tha, Yeshu aatmik ankhein di

2. Yeshu mujhko bacha liya, Paap ki daldal se

Kheench nikala gandagi se, Aur lahu se saaf kiya

3. Tujhko main dhanyawad bali, Din bhar chadaunga

Pavitra aatma se bharkar, Main stuti gaaunga

  प्रभु इस गीत के द्वारा आप सब को आशीष दे