Ya Rabb Teri Janab Mein Lyrics

 

 

 

या रब्ब तेरी जनाब में हर्गिज़ कमी नहीं 

तुझसा जहां के बींच तो कोई गनी नहीं |

 

जो कुछ भी खूबियां है सब तेरी ही जात में,

तेरे सिवाए और तो कोई धनी नहीं |

 

आसी की अर्ज तुझ से  है, तू सुन ले, ऐ गनी,

अपने फ़ज़ल के गंज से तू कर मुझे धनी |  

 

Ya Rabb Teri Janab Mein Hargiz Kami Nahi

Tujhsa Jaha Ke Beech To Koi Gani Nahi

 

 

Jo Kuch Bhi Khoobiya Hai Sab Teri Hi Jaat Mei

Tere Sivaye Aur To Koi Dhani Nahi

 

 

Aasi Ki Arj Tujh Se Hai, Tu Sun Le, Ai Gani,

Apne Phazal Ke Ganj Se Tu Kar Mujhe Dhani

  प्रभु इस गीत के द्वारा आप सब को आशीष दे