google.com, pub-3638331660160035, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

YAHOWA CHARWAHA MERA LYRICS
यहोवा चरवाहा मेरा

यहोवा चरवाहा मेरा, कोई घटी मुझे नहीं है
हरी चराईयों में मुझे, स्नेह से चराता वह है।

1. मृत्यु के अन्धकार से, मैं जो जाता था
प्रभु यीशु करूणा से, तसल्ली मुझे दी है (2)...

2. शत्रुओं के सामने, मेज़ को बिछाता है
प्रभु ने जो तैयार की, मन मेरा मगन है (2)...

3. सिर पर वह तेल मला है, अभिषेक मुझे किया है
दिल मेरा भर गया है, और उमंड भी रहा है (2)...

4. सर्वदा प्रभु घर में, करूंगा निवास जो मैं
करूणा भलाई भी उसकी, आनन्दित मुझे करती है (2)...

Yahowa charwaha mera, koi ghati mujhe nahin hai

Hari charaaiyon mein mujhe, sneh se charaataa veh hai

1. Mrityu ke andhkaar se, main jo jaataa tha

Prabhu Yeshu karuna se, tasalli mujhe dee hai (2)...

2. Shatruon ke saamne, mez ko bichhaataa hai

Prabhu ne jo taiyaar ki, man mera magan hai (2)...

3. Sir par veh tel mala hai, abhishek mujhe kiya hai

Dil mera bhar gaya hai, aur umad bhi raha hai (2)...

4. Sarvada prabhu ghar mein, karunga niwaas jo main

Karuna bhalaai bhi uski, aanandit mujhe karti hai (2)...

  प्रभु इस गीत के द्वारा आप सब को आशीष दे

bottom of page